NCR Full Form in Hindi – NCR क्या है, कैसे बना जनसंख्या कितनी है 2022

NCR Full Form in Hindi: हैलो दोस्तों आज के इस लेख मे हम बात करने वाले है NCR के विषय मे, जिसमे हम आपको बताएंगे की NCR क्या है?, NCR फुल फॉर्म क्या है?, एनसीआर के अंतग्रत आने वाले छेत्र और भी बहुत कुछ, तो चलिए शुरू करते है।

क्या आपने काभी इसससे पहले NCR का नाम सुना था, या जानते हैं की NCR ka Full Form क्या है? यदि हाँ तो भी मई यह दावा के साथ कह सकता हूँ की आपको इसके विषय मे पूरी जानकारी नहीं होगी, और यदि नहीं जानते तो आप निश्चिंत हो जाएं, आज के इस लेख को पढ़ने के पश्चात आपको काही और यह सर्च करके किसी आने वेबसाईट पर इसके विषय मे पढ़ने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

हम आपको इस विषय मे संपुर जनक्री देंगे, और आपको बताएंगे की ऐसा क्या है एनसीआर छेत्रों मे जोकि हर छेत्र NCR मे आना चाहता है, और एनसीआर की तरक्की इतनी ज्यादा तेज क्यूँ होती है? आपको यहाँ पर सभी प्रश्नों के जवाब मिल जाएंगे, तो चलिए बिना समय गवाये शुरू करते है और सभी पहले आपको बताते हैं NCR क्या है?

NCR Full Form in Hindi

वैसे तो भारत के एक नगरीय होने के नाते आपको यह जरूर पता होना चाहिए की NCR full form क्या है? आपको बता दे वैसे तो NCR के बहुत सारे फुल फॉर्म है, लेकिन हम सबसे पहले आपको “Delhi NCR Full Form” के विषय मे बताते है उसके पश्चात आपको अन्य एनसीआर फुल फॉर्म के विषय मे बताएंगे।

Delhi NCR Full Form

“National Capital Region”

Delhi NCR Full Form in Hindi

दिल्ली एनसीआर को हिन्दी मे “राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र” कहा जाता है. यह भारत देश का एक ऐसा महनगरिए छेत्र है, जिसके अंतग्रत दिल्ली के साथ साथ दिल्ली के आस पास के छेत्र भी आते है। इस कारण इसे Delhi NCR कहते हैं।

NCR Other Full Form – NCR के अन्य फुल फॉर्म

  • National Credit Regulator
  • National Council of Residences
  • National Cash Register
  • No Carbon Required
  • Numerical Character Reference 

Delhi NCR क्या है – What is Delhi NCR?

Delhi NCR क्या है यह सवाल अक्सर लोगों के मन मे आता होगा, लोग यह जरूर जानना चहते होंगे की आखिरकार दिल्ली एनसीआर मे ऐसा क्या है की बही छेत्र भी उसके अंतग्रत आना चहते है. तो चलिए आपको बताते हैं की दिल्ली एनसीआर क्या है?

NCR को Delhi NCR के नाम से भी जाना जाता है, जैसा की आपको हमने पहले ही बताया की इसका फुल फॉर्म राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र है, और हम सभी जानते हैं की दिल्ली भारत की राजधानी है, और यह के बहुत बड़ा महानगर है, जिस कारण दिल्ली और इसके पड़ोसी छेत्र NCR के अनतग्रत आता है।

NCR विश्व के सबसे बड़े समूहों मे से एक है, जिसे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र योजना बोर्ड अधिनियम 1985 के अंतग्रत बनाया गया था। Delhi NCR हमारे देश का एक National Capital भी है जिसके कारण यहाँ पर भारत के बाकी राज्यों की तुलना मे ज्यादा नौकरी के अवसर है। और यह एक कारण है की लोग ज्यादातर यहाँ नौकरी की तलाश मे आते है। तो अगर हम आसान षदों मे कहें की Delhi NCR kya hai तो इसका जवाब होगा की:

Delhi NCR राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र योजना बोर्ड अधिनियम 1985 के तरह बनाया गया विश्व के सबसे बड़े समूहों मे से एक है, जिसके अंतग्रत दिल्ली के अलावा इसके आस पास के छेत्र भी आयतें हैं।

NCR के अंतग्रत आने वाले छेत्र

यदि देखि NCR के कुल छेत्र की बात करें तो यह 55,083 km² है, जिसके अंतग्रत हरियाणा के 14 जिले, उत्तर प्रदेश के 8 जिले और राजस्थान के 2 जिले मिलकर 24 जिलों का समूह है, जो Delhi NCR के अंतग्रत आता है. साल 2011 की जड़गड़ना के अनुसार 46,069,000 दिल्ली एनसीआर के अंतग्रत आने वाले छेत्र की जनसंख्या हैं।

UP (Uttar Pradesh) NCR District List

  • गौतम बौद्ध नगर (Noida)
  • गाज़ियाबाद
  • बुलंदशहर
  • मुजफ्फरनगर
  • शामली
  • बागपत
  • हापुड़
  • मेरठ

Rajasthan NCR District List

  • अलवर
  • भरतपुर

Haryana NCR District List

  • फरीदाबाद
  • गुरुग्राम (गुडगाँव)
  • चरखी दादरी
  • भिवानी
  • सोनीपत
  • पानीपत
  • करनाल
  • महेंद्रगढ़
  • नूह
  • पलवल
  • रोहतक
  • रेवाड़ी
  • जींद
  • झज्जर

NCR बनाने का उदेश्य – NCR क्यूँ बनाया गया?

आप सभी के मन मे इस समय एक सवाल जरूर या रहा होगा की NCR बनाने की जरूरत क्यूँ पड़ी? या NCR बनाने के पीछे सरकार का क्या उदेश्य था? और यदि NCR बनाया गया तो इसमे और भी ज्यादा छेत्रों को क्यूँ सामील किया गया या किया जा रहा है? तो आपके ईन सभी सवालों के जवाब इस लेख मे पढ़ने को मिल जाएगा।

जैसा की हम सभी जानते हैं दिल्ली भारत देश की राजधानी है, तो ऐसे मे दिल्ली का विकास करने पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है। आपको पहले ही बात दिया गया है की Delhi हमारे देश की राजधानी के साथ ही साथ National Capital भी है, इस कारण बहुत सारे लोग यहाँ नौकरी की तलास मे आतें हैं।

जिस कारण दिल्ली की जनसंख्या बढ़ती जा रही है ओर दिल्ली का छेत्रफल सीमित है, ऐसे मे NCR की स्थापना हुई जिससे दिल्ली की भीड़ को काम किया जा सके और लोगों को पूर्ण रूप से रोजगार प्राप्त हो सके, इस वजह से आस पास के राज्यों के कुछ छेत्रों को भी शामिल किया गया।

NCR मे अलग अलग राज्यों के छेत्रों को क्यूँ शामिल किया गया

अब यह सवाल आता है की ऐसे क्या जरूरत पड़ी की बाकी राज्यों के छेत्रों को NCR के अंतग्रत शामिल किया गया, तो उसका दो बहुत बड़ा कारण है विकास और रोजगार। वैसे तो यदि यह छेत्र NCR मे शामिल नहीं हुए होते तो भी ईन छेत्रों का विकास होता लेकिन NCR मे शामिल करने से इनके विकास का जिम्मा दिल्ली एनसीआर का होता है।

एनसीआर को ज्यादा मदद मिलती है Development में, जिसका उदाहरण हम देख सकतें हैं Noida और Haryana मे Delhi Metro के चलाने से। यह इसी कारण संभव हो पाया है। और जिस कारण बहूत्त सारी कंपनी भी दिल्ली से ईन शहरों मे शिफ्ट हो गईं और दिल्ली का दबाव काम हुआ।

FaQ – NCR से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल-जवाब

Conclusion

आपको दी गई जानकारी मे से कौन सी जानकारी पहले से पता थी हमे कमेन्ट मे जरूर बताएं साथ ही साथ यदि आपको इस विषय मे कुछ अतिरिक्त पता हो तो वह भी बताएं जिससे और भी लोगों की मदद की जा सके।

आज के इस लेख मे आपने जाना Delhi NCR Full Form, Delhi NCR kya hai, NCR full form in hindi, NCR के अंतग्रत आने वाले सभी छेत्र और भी बहुत कुछ. यदि आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो कमेन्ट कर बताएं साथ ही साथ अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर हैं।

यह लेख पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद आपका समय शुभ हो……