जीवन जीने की राह दिखाते हैं प्रभु यीशु के अनमोल वचन

आप आने वाले कल के बारे में सोचकर कभी भी चिंतित मत होना, क्योंकि हर दिन की अपनी परेशानी होती है, और वह परेशानी उसी दिन के खत्म होने के साथ चली भी जाती है।

एक दुसरे की सेवा करना ही हमारा धर्म है, जो लोग दुसरो की मदद करते है ईश्वर उन्हीं की मदद करते है, इसलिए मन से स्वार्थ और लालच की भावना का त्याग कर देना ही उचित है।

जब आप दान करते हैं, तो आपके बाएं हाथ को पता नहीं होना चाहिए कि आपका दाहिना हाथ क्या करता है, ताकि आपका दान गुप्त हो, और तब आपका पिता, जो गुप्त में देखता है, आपको पुरस्कृत करेगा।

वह जो तुम्हारे बीच बिना पाप का है, उसे पहले पत्थर फेंकने दो.

जो तुम्हें ग्रहण करता है, वह मुझे ग्रहण करता है और जो मुझे ग्रहण करता है, वह मेरे भेजने वाले को ग्रहण करता है । जो मसीहा को मसीहा जानकर ग्रहण करे, वह मसीहा का पुरस्कार पाएगा और जो धार्मिक जानकर धार्मिक व्यक्ति को ग्रहण करे, वह धार्मिक का पुरस्कार पाएगा।

अपने दिल को परेशान मत करो. भगवान में विश्वास करो. मुझ पर भी विश्वास करो

यदि जो तुम्हारे भीतर है उसे सामने लाओ, तो वो तुम्हे बचाएगा.  यदि जो तुम्हारे भीतर है उसे सामने नहीं लाते हो, तो वो तुम्हे नष्ट कर देगा.

मैं हमेशा तुम्हारे साथ हूं, यहां तक कि दुनिया के अंत तक.

यदि तुम सही जीवन जीना चाहते हो तो अपनी सारी संपत्ति को गरीबों में बांट दो, तुम्हे स्वर्ग का खजाना मिलेगा.

वह जो तुम्हारे बीच बिना पाप का है, उसे पहले पत्थर फेंकने दो.