सृष्टि का पहला अन्न है तिल, एंटीऑक्सीडेंट और कैल्शियम जैसी जरूरी चीजें होती है इसमें

पुराणों में बताया गया है कि ब्रह्मा जी ने सफेद और काले तिल बनाएं। इसलिए तिल को सृष्टि का पहला अन्न माना जाता है।

ये ही वजह है कि कोई भी यज्ञ-हवन, बिना तिल के पूरा नहीं हो पाता।

ग्रंथों में बताया गया है कि मकर संक्रांति पर सफेद और काले तिलों को पानी में डालकर नहाना चाहिए

इस दिन हवन में तिलों की आहुति देना चाहिए

साथ ही शहद और तिलों से भरा हुआ मिट्‌टी का बर्तन दान करना चाहिए।

धार्मिक नजरिये से तो तिल खास है ही इनका आयुर्वेदिक और वैज्ञानिक महत्व भी है।